accountant kaise bane 1280x720 1

भारत में ही नहीं दुनिया भर में कोई भी बिज़नेस बिना अकाउंटेंट के नहीं चल सकता है। प्रत्येक व्यापारी या व्यवसायी को अपने व्यापार के एकाउंट्स (लेखा) की देखरेख के लिए अकाउंटेंट की जरुरत होती है। अगर आपकी रुचि भी एकाउंट्स में है और आप एक अकाउंटेंट के तौर पर अपना करियर का विकल्प चुनना चाहते हैं तो यहाँ पर आपको अकाउंटेंट बनने से जुड़ी सम्पूर्ण जानकारी मिलेगी। तो आइये जानते हैं कि अकाउंटेंट क्या होता है? और अकाउंटेंट कैसे बनते हैं?

अकाउंटेंट क्या होता है? Accountant कैसे बने?

अकाउंटेंट क्या होता है?

किसी भी कंपनी या फिर बिजनेस का एक ऐसा कर्मचारी जो उस कंपनी या बिजनेस के सभी अकाउंट और आर्थिक खर्चा की बैलेंस शीट मेंटेन करता है और उसकी देखरेख करता है तथा समय-समय पर उसमें अपडेट और बदलता रहता है उसे ही अकाउंटेंट कहा जाता है। अकाउंटेंट का पद काफी जिम्मेदारी और महत्वपूर्ण पद माना जाता है। किसी भी कंपनी में अकाउंटेंट का काम बिजनेस का लेखा-जोखा और आर्थिक कामों से जुड़ा होता है।

इसीलिए अकाउंटेंट को गणित का अच्छा ज्ञान होना चाहिए, क्योंकि उन्हें अक्सर दैनिक तौर पर कंपनी की बैलेंस शीट को मेंटेन करना होता है। अकाउंटेंट बनने के लिए आपको कुछ विशेष कोर्स करने होते हैं, साथ ही आपके पास कुछ योग्यताएं भी होनी चाहिए।

आइए जानते हैं अकाउंटेंट कैसे बनें?

आज के समय में अकाउंटेंट की मांग काफी ज्यादा है और बहुत से लोग इस फील्ड में काम करने के बारे में सोचते है लेकिन उन्हें ये समझ में नहीं आता कि आखिर Accountant Kaise bane और कई लोग ऐसा सोचते है की Tally का कोर्स कर लेंगे तो एक सफल अकाउंटेंट बन जायेंगे लेकिन ऐसा नहीं है | 

अकाउंटेंट बनने के लिए आपको Tally के साथ साथ और भी जानकारी होनी चाहिए और टैली के साथ साथ और भी अन्य Accounting सॉफ्टवेयर के बारे में जानकारी होनी चाहिए अगर आप इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है तो आपको CA यानि Chartered Accountant या फिर किसी अनुभवी Accountant से ट्रैंनिंग लेना जरूरी है। इस फील्ड में आपको थ्योरेटिकल ज्ञान का होना काफ़ी नहीं है इसमें आपको Practical नॉलेज भी बहुत महत्वपूर्ण होता है |

Accountant कैसे बने?

  • अकाउंटेंट बनने के लिए सबसे पहले आपके पास कम से कम B.Com की डिग्री होनी चाहिए।
  • Tally के बारे में अच्छा ज्ञान होना चाहिए।
  • अकाउंटेंट से संबंधित पूरी जानकारी होनी चाहिए।
  • कंप्यूटर के बारे में भी अच्छी जानकारी होनी चाहिए।
  • सामान्य गणित का ज्ञान होना चाहिए।
  • Tally के साथ साथ दूसरे सॉफ्टवेयर की भी जानकारी होनी चाहिए।
  • अकाउंटेंट बनने से पहले आपके पास 1-2 साल का अनुभव भी होना चाहिए।

Accountant की जिम्मेदारियां 

Accountant की काफी सारी जिम्मेदारियां होती है जिनके बारे में हम एक एक करके बात करेंगे –

अकाउंटेंट किसी भी कंपनी को उसके बजट बनाने और उसको Manage करने में सहायता करता है। इससे उस कंपनी को अपने रुपए सही जगह invest करने में आसानी होती है।

Accountant कंपनी में Tax, GST और कंपनी के सभी प्रकार के बिल भुगतान आदि जैसे कार्य करता है। 

फाइनेंस से जुड़े सभी तरह के दस्तावेज को तैयार रखता है। 

बिज़नेस में हर महीने कितना पैसा Invest हो रहा है। इन सब बातो पर भी Accountant नज़र रखता है। 

कंपनी का कहाँ कहाँ पैसा ट्रांजेक्शन हुआ है। ये भी एक अकाउंटेंट ही देखता है। 

कंपनी की सभी प्रकार की फाइनेंस से जुड़ी जानकारी को गुप्त रखने का काम भी Accountant ही करता है। ताकि वह सूचना एकदम सुरक्षित रहे।

Junior Accountant कौन होता है।

किसी व्यवसाय में Junior Accountant वह पेशेवर व्यक्ति होता है। जिसे सीनियर अकाउंटेंट की मदद करने के लिए रखा जाता है। जो आम तौर पर व्यवसाय मे होने वाले दैनिक व्यवहारो का लेखा-जोखा करना, व्यवसाय की वित्तीय व्यवस्था संभालने, Voucher बनाना, Payroll बनाना, Sale Bill बनाना आदि का काम करता है।

ज्यादातर Junior Accountant अपने व्यवसाय के मालिक या वरिष्ठ लेखाकार (Senior Accountant) के आदेश के अनुसार कार्य करते हैं।

कभी – कभी Junior Accountant व्यवसाय के निर्धारित बिंदुओं के आधार पर Trading Account, Profit and Loss Account, Manufacturing Account, Balance Sheet आदि का भी विश्लेषण भी करता है।

अकाउंटेंट बनने की उम्र

अकाउंटेंट बनने के लिए किसी भी प्रकार की उम्र निर्धारित नहीं की गई है। अगर आपके पास अकाउंट की फील्ड का अच्छा अनुभव है तो आप किसी भी कंपनी में अकाउंटेंट की नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं और अकाउंटेंट का पद प्राप्त कर सकते हैं।

अकाउंटेंट का करियर स्कोप

अगर आपको अकाउंटेंट का काम करते-करते अकाउंटिंग और ऑडिटिंग का अच्छा अनुभव हो जाता है, तो यह आपके भविष्य के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। आप इस फील्ड में काफी आगे तक ले जा सकते हैं क्योंकि अकाउंटिंग और ऑडिटिंग का काम एक ऐसा काम होता है जिसकी आवश्यकता लगभग हर कंपनी को होती है।

क्योंकि हर कंपनी अपने डाटा को मैनेज करने के लिए और अपनी कंपनी की ऑडिटिंग करने के लिए अकाउंटेंट को नौकरी पर हायर करना पड़ता है। ऐसे में अगर आप एक प्रोफेशनल अकाउंटेंट बन जाते हैं, तो आपको अच्छी सैलरी के साथ-साथ और भी कई सुविधाएं भी प्राप्त होती हैं।

Accountant का वेतन

एक अकाउंटेंट को शुरू में मिलने वाली सैलरी लगभग 10,000/-रू प्रति माह से लेकर लगभग 18,000/-रू प्रति माह तक हो सकती है

आपको मिलने वाली सैलरी पूरी तरह से इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस फर्म या कंपनी में काम कर रहे हैं और आपको कितना ज्ञान है।

क्या मुझे Tally सीखना चाहिए?

हाँ

दोस्तों Tally एक ऐसा Software है। जो Accounting के लिए सबसे ज्यादा लोकप्रिय है। और Tally यूजर की Market मे डिमांड भी बहुत ज्यादा रहती है। तो अगर आप Accountant बनने की शुरुआत कर रहे हैं। तो आप को Tally जरूर सीखनी चाहिए।

निष्कर्ष

इस पोस्ट मे आज हमने Accountant कैसे बने, अकाउंटेंट क्या होता है? विषय पर चर्चा की है। तथा साथ ही हमने Accountant से संबंधित कई प्रश्नों के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी प्राप्त की है।

तो दोस्तों अगर पोस्ट से संबंधित कोई सुझाव या किसी टॉपिक को समझने मे कठिनाई होती है। तो आप मुझे कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं। और दोस्तों यदि आप इसी तरह नई पोस्ट निरंतर प्राप्त करना चाहते हैं। तो आप मेरे ब्लॉग पर उपस्थित नोटीफिकेशन बेल पर जरूर क्लिक करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *