ATM Full Form in Hindi

ATM Full Form in Hindi

ATM Full Form in Hindi :- हेलो फ्रेंड्स, क्या आपको पता है कि एटीएम क्या होता है? और ATM Full Form in Hindi? अगर आपका किसी बैंक में अकाउंट है तो निश्चित ही आपको एटीएम के बारे में जानकारी होगा और आजकल तो लगभग सबके पास किसी ना किसी बैंक में अकाउंट है लेकिन ज्यादातर लोगों को एटीएम का पूरा नाम नहीं पता है

और अगर आपको भी एटीएम का फुल फॉर्म नहीं पता है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि इस आर्टिकल के माध्यम से आपको एटीएम के बारे में हर एक तरह की जानकारी दी जाएगी। तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम बात करेंगे एटीएम के बारे में की एटीएम क्या होता है? एटीएम का फुल फॉर्म क्या है?

एटीएम का प्रयोग क्यों किया जाता है? एटीएम कार्ड कहां से मिलता है? एटीएम कार्ड लेने के लिए कितना शुल्क देना होता है? इन सभी प्रश्नों का जवाब आपको इस आर्टिकल में देखने को मिल जाएगा। So Let’s Get Started….

एटीएम(ATM) का फुल फॉर्म क्या है? 

ATM एटीएम का फुल फॉर्म ऑटोमेटिक टेलर मशीन (Automatic Teller Machine) होता है जिस का हिंदी में स्वचालित मुद्रा वितरण यंत्र कहा जाता है। एटीएम एक ऐसा यंत्र है जिसे स्वचालित रूप से पैसा निकालने के लिए प्रयोग किया जाता है। एटीएम के फुल फॉर्म में— स्वचालित शब्द का मतलब एटीएम अपने आप ट्रांजैक्शन का काम करता है

और टेलर शब्द का मतलब एटीएम मनी ट्रांजैक्शन के अमाउंट की गीनती करता है तथा मशीन शब्द का मतलब एटीएम की यंत्र से होता है। आज के समय में विश्व के हर एक देश में एटीएम का प्रयोग किया जाता है लेकिन सभी देशों में एटीएम को अलग-अलग नामों से जाना जाता है जैसे कनाडा में एटीएम को एबीएम कहा जाता है जिसकी फुल फॉर्म की बात करें तो एबीएम का फुल फॉर्म ऑटोमेटिक बैंकिंग मशीन होता है।

पैसों का ट्रांजैक्शन करने के लिए आज एटीएम का प्रयोग विश्व भर में किया जा रहा है क्योंकि पैसों की निकासी या जमा करने के लिए बार-बार बैंक जाना आपके टाइम मैनेजमेंट को खराब कर देता है इसलिए आज के समय में एटीएम का प्रयोग करना आपके टाइम को बचाता है और एटीएम का प्रयोग करना काफी सुरक्षित भी है। 

ATM FULL FORM:- Automatic Teller Machine

ATM का अविष्कार किसने किया?

ATM मशीन के आविष्कारक तो John Shepherd Barron हैं उनसे भी पहले एक अमेरिका के नागरिक ‘लूथर जार्ज सिमियन’ ने एटीएम का आविष्कार किया था लेकिन उस एटीएम मशीन से सिर्फ चेक और कैश को जमा किया जा सकता था। फिर साल 1967 में John Shepherd Barron ने मुद्राओं के ट्रांजैक्शन के लिए एक सक्सेसफुल एटीएम मशीन बनाया और उस एटीएम मशीन का प्रयोग पहली बार लंदन के बार्कलेज बैंक में किया गया।

ATM Machine किस तरह से काम करता है— How Does An ATM Machine Work?

एटीएम मशीन का प्रयोग करने के लिए सबसे जरूरी आपके पास कोई एटीएम कार्ड होना चाहिए और अगर आपके पास एटीएम कार्ड नहीं है और ना ही आपका किसी बैंक में अकाउंट है तो आप सबसे पहले किसी भी बैंक में जाकर खाता खुलवाएं और डेबिट कार्ड के लिए अप्लाई करें फिर कुछ दिन के बाद आपको डेबिट कार्ड (ATM Card) मिल जाता है। ATM Card मिलने के बाद आपको एटीएम कार्ड के लिए पिन बनाना पड़ता है

फिर आप एटीएम में जाएं और एटीएम कार्ड स्वाइप करें फिर स्क्रीन पर बैंक का कैटेगरी दिखाई देगा जिससे सिलेक्ट करके आपको अपने एटीएम कार्ड का पासवर्ड डालना होता है। इसके बाद अमाउंट डाले जितने पैसों की आपको जरूरत है फिर कुछ ही सेकंड बाद आपका पैसा एटीएम मशीन के द्वारा दे दिया जाता है। 

एटीएम(ATM) कार्ड के कितने प्रकार होते हैं? How Many Types Of ATM Cards In Hindi —

White Label Atm Card: White Label Atm Card में उस तरह के एटीएम कार्ड आते हैं जिनमें स्वामित्व और संचालन गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनी के द्वारा किया जाता है।

Brown Atm Card: Brown Atm Card का एटीएम कार्ड किसी बैंक के तीसरे पक्ष के द्वारा एसोसिएट करने पर मिलता है।

Green ATM Card: कृषि संबंधी लेन-देन करने के लिए Green ATM Card दिया जाता है।

Orange Label Atm Card: शेयर मार्केट से रिलेटेड लंदन और इन्वेस्टमेंट के लिए Orange Label Atm Card दिया जाता है।

Yellow Atm Card: इ कॉमर्स बिज़नेस से रिलेटेड लेनदेन के लिए Yellow Atm Card दिया जाता है। 

Pink Label Atm Card: महिलाओं के परेशानियों को देखते हुए Pink Label Atm Card को बनाया गया है जिसके अंतर्गत महिलाओं को बहुत आसानी से बैंकों में पैसा मिल जाता है। 

Biometric ATM Card: Biometric ATM Card सबसे सुरक्षित एटीएम कार्ड है जिसमें पैसों की लेनदेन करने के लिए फिंगर और आंखों का स्कैन किया जाता है। 

ALSO READ:- Upcoming Electric Bike In India– भारत में आने वाली इलेक्ट्रिक बाइक 2022

ATM कार्ड्स के फायदे? Advantages Of Atm Cards In Hindi

  • ATM 24 Hour हर दिन उपलब्ध रहता है जिससे आप कभी भी पैसा निकाल सकते हैं।
  • अगर आप पैसों की निकासी के लिए बैंक जाते हैं तो वहां पर पैसा निकालने के लिए ज्यादा समय लगता है और वही आप एटीएम से पैसा निकालते हैं तो आप का भी समय बचता है और बैंक के कर्मचारियों का भी समय बच जाता है।
  • अगर आप किसी दूसरे शहर में काम करते हैं या फिर घूमने जाते हैं तो वहां पर आप किसी भी एटीएम से पैसा निकाल सकते हैं।
  • अपने पास ज्यादा पैसा रखने से चोरी होने का खतरा बना रहता है इसलिए आप अपने पैसे को एटीएम में सेफ रख सकते हैं। 

एटीएम(ATM) के बारे में कुछ जरूरी तथ्य— Some Important Facts About ATM In Hindi

  • भारत में पहली बार एटीएम मशीन का प्रयोग HSBC के द्वारा 1987 ईस्वी में किया गया था।
  • एटीएम मशीन का उपयोग सबसे पहले एक फेमस कॉमेडियन Reg Warnes ने किया था।
  • दुनिया का सबसे बड़ा Floating ATM केरल में स्थित भारतीय स्टेट बैंक का एटीएम है।
  • दुनिया का सबसे ऊंचा एटीएम नाथू ला में स्थित यूनियन बैंक का एटीएम है जिसकी ऊंचाई लगभग समुद्र तट से 14300 फीट है।
  • Romania के देश में एटीएम कार्ड प्राप्त करने के लिए आपके पास बैंक अकाउंट होना जरूरी नहीं है।

निष्कर्ष(Conclusion)

तो दोस्तों हमने आपको बताया एटीएम का फुल फॉर्म क्या होता है? एटीएम कार्ड के क्या-क्या फायदे हैं? और ATM Full Form in Hindi? एटीएम मशीन का आविष्कार किसने किया था? मुझे आशा है कि आप कोई आर्टिकल काफी नॉलेजेबल लगा होगा और अगर यह आपको इंफॉर्मेशन लगता है तो आप इस आर्टिकल को जरूर अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

धन्यवाद..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *