Best Sunderkand Pdf

Sunderkand pdf – Sunderkand in hindi pdf – Sunderkand Path Pdf – सुन्दरकाण्ड पाठ Pdf – जय श्री राम भक्तों , इस आर्टिकल में हमने संपूर्ण सुन्दरकाण्ड (sunderkand hindi ) के पाठ को दिया है ।

सुन्दरकाण्ड पाठ (Sunderkand Path) हिन्दी PDF डाउनलोड करें इस लेख में नीचे दिए गए लिंक से। अगर आप सुंदरकांड पाठ हिंदी (SunderKand Path by Gita Press Gorkhpur) हिन्दी पीडीएफ़ डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह आए हैं। इस लेख में हम आपको दे रहे हैं सुन्दरकाण्ड पाठ (Sunderkand Path) के बारे में सम्पूर्ण जानकारी और पीडीएफ़ का direct डाउनलोड लिंक।

सुंदरकांड रामायण (Sunderkand pdf ) का एक महत्वपूर्ण भाग है जो राम की कृपा पाने के लिए श्रद्धालु द्वारा पढ़ा जाता है। सुंदरकांड चौपाईयों में लिखा गया है और इसमें हनुमान जी राम की सेवा में उनके पास जाते हैं। यह अध्याय रामायण के बाकी अध्यायों से थोड़ा अलग होता है क्योंकि इसमें व्यंजन, अलंकार और दोहे होते हैं। सुंदरकांड को पढ़ने और सुनने से श्रद्धालु राम की कृपा पाते हैं और उनके जीवन को धन्य मानते हैं।

Sunderkand in hindi pdf का पाठ प्रत्येक मंगलवार या शनिवार को किया जाता है। इसका पाठ अकेले में या समूह के साथ संगीतमय रूप में किया जाता है। सुन्दरकाण्ड का नियमित पाठ जीवन की समस्त बाधाओं का नाश करता है। इससे धन, संपत्ति, सुख, वैभव, मान-सम्मान आदि प्राप्त होता है।

source link

Sunderkand Pdf – Sunderkand In Hindi Pdf – Sunderkand Path Pdf – सुन्दरकाण्ड पाठ Pdf

Sunderkand Pdf

।। ॐ श्री गणेशाय नमः ।।।।

श्रीजानकीवल्लभो विजयते ।

श्रीरामचरितमानस पञ्चम सोपान श्री सुन्दरकाण्ड ।।

।। श्लोक ।।

शान्तं शाश्वतमप्रमेयमनघं निर्वाणशान्तिप्रदंब्रह्माशम्भुफणीन्द्रसेव्यमनिशं वेदान्तवेद्यं विभुम

रामाख्यं जगदीश्वरं सुरगुरुं मायामनुष्यं हरिंवन्देऽहं करुणाकरं रघुवरं भूपालचूड़ामणिम् ।।

नान्या स्पृहा रघुपते हृदयेऽस्मदीयेसत्यं वदामि च भवानखिलान्तरात्मा ।।

भक्तिं प्रयच्छ रघुपुङ्गव निर्भरां मेकामादिदोषरहितं कुरु मानसं च

अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहंदनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम् ।।सकलगुणनिधानं वानराणामधीशंरघुपतिप्रियभक्तं वातजातं नमामि ।।

।। चौपाई ।।

जामवंत के बचन सुहाए ।

सुनि हनुमंत हृदय अति भाए ।।

तब लगि मोहि परिखेहु तुम्ह भाई ।

सहि दुख कंद मूल फल खाई ।।

सिंधु तीर एक भूधर सुंदर । कौतुक कूदि चढ़ेउ ता ऊपर ।।

बार बार रघुबीर सँभारी । तरकेउ पवनतनय बल भारी ।।

जेहिं गिरि चरन देइ हनुमंता । चलेउ सो गा पाताल तुरंता ।।

जिमि अमोघ रघुपति कर बाना । एही भाँति चलेउ हनुमाना ।।जलनिधि रघुपति दूत बिचारी । तैं मैनाक होहि श्रमहारी ।।

जात पवनसुत देवन्ह देखा । जानैं कहुँ बल बुद्धि बिसेषा ।।

सुरसा नाम अहिन्ह कै माता । पठइन्हि आइ कही तेहिं बाता ।।

आजु सुरन्ह मोहि दीन्ह अहारा । सुनत बचन कह पवनकुमारा

राम काजु करि फिरि मैं आवौं । सीता कइ सुधि प्रभुहि सुनावौं ।।

तब तव बदन पैठिहउँ आई । सत्य कहउँ मोहि जान दे माई ।।

कबनेहुँ जतन देइ नहिं जाना । ग्रससि न मोहि कहेउ हनुमाना ।।

जोजन भरि तेहिं बदनु पसारा । कपि तनु कीन्ह दुगुन बिस्तारा ।।

सोरह जोजन मुख तेहिं ठयऊ । तुरत पवनसुत बत्तिस भयऊ ।।

जस जस सुरसा बदनु बढ़ावा । तासु दून कपि रूप देखावा ।।

सत जोजन तेहिं आनन कीन्हा । अति लघु रूप पवनसुत लीन्हा

बदन पइठि पुनि बाहेर आवा । मागा बिदा ताहि सिरु नावा ।।

मोहि सुरन्ह जेहि लागि पठावा । बुधि बल मरमु तोर मै पावा ।।

दोहा: राम काजु सबु करिहहु तुम्ह बल बुद्धि निधान ।

आसिष देह गई सो हरषि चलेउ हनुमान ।।

सुंदरकांड पाठ करने के फायदे

Sunderkand pdf Sunderkand in hindi pdf Sunderkand Path Pdf सुन्दरकाण्ड पाठ Pdf 6 768x432 1

सुंदरकांड पाठ करने से आप अपने जीवन में कई फायदे प्राप्त कर सकते हैं। यहां हम इसके कुछ मुख्य फायदे बता रहे हैं।

शांति और संतुलन :सुंदरकांड पाठ करने से आपको शांति और संतुलन मिलता है। यह एक ध्यान देने वाला पाठ है जो आपको अपने मन को शांत करने में मदद करता है। इससे आपका मन स्थिर होता है और आप अपने जीवन के बारे में सोचने लगते हैं।शुभ कार्य करने में मदद : सुंदरकांड पाठ करने से आपको शुभ कार्य करने में मदद मिलती है। यह एक ध्यान देने वाला पाठ होता है जो आपके मन को शांत करता है और आपको अपने जीवन के बारे में सोचने में मदद करता है। इससे आप अपने शुभ कार्यों में सक्षम होते हैं और उन्हें सफलता से पूरा कर सकते हैं।

स्वास्थ्य के लिए लाभदायक :सुंदरकांड पाठ करने से आपके स्वास्थ्य को लाभ मिलता है। यह ध्यान देने वाला पाठ होता है जो आपको शांत करता है और आपके मन को स्थिर रख सकते हैं।

मानसिक शक्ति को बढ़ावा : Sunderkand pdf पाठ करने से आपकी मानसिक शक्ति को बढ़ावा मिलता है। इस पाठ को करने से आपका मन शांत होता है और आपको धीरज और स्थिरता मिलती है। इससे आप अपनी मानसिक शक्ति को बढ़ा सकते हैं और जीवन के मुश्किल परिस्थितियों के सामना करने की क्षमता मिलती है।

विद्या और ज्ञान के लिए लाभदायक: सुंदरकांड पाठ करने से आप विद्या और ज्ञान को प्राप्त करते हैं। यह पाठ भगवान राम के चरित्र और महत्व को वर्णित करता है। इससे आप रामायण के महत्वपूर्ण तत्वों को समझ सकते हैं और अपनी ज्ञान और विद्या को बढ़ा सकते हैं।

समस्याओं से निवृत्ति :सुन्दरकाण्ड पाठ Pdf करने से आप अपनी समस्याओं से निवृत्ति प्राप्त कर सकते हैं। यह एक मनोवैज्ञानिक पाठ होता है जो आपके मन को शांत करता है और आपको समस्याओं से निवृत्ति प्राप्त करता है। इससे आप अपने जीवन में समस्याओं के सामना करने की क्षमता प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *