electric car charging

Electric Car Charging

car charging
Electric Car Charging

आज जैसे जैसे प्रदूषण बढ़ रहा है वैसे वैसे पेट्रोल Diesel के Vehicle कम हो रहे हैं और इलेक्ट्रिक Vehicle तेज़ी से बढ़ रहे है क्योकि पेट्रोल और डीजल के वाहनों से बहुत ज्यादा प्रदूषण होता है और दूसरा पेट्रोल की अधिक खपत के कारण डीजल के दाम बढ़ रहे हैं। इसलिए आज बहुत तेज़ी से इलेक्ट्रिक Vehicle का प्रचलन बढ़ रहा है और इसके लिए सरकार भी पूरा सहयोग दे रही है।

इलेक्ट्रिक वाहनों पर GST की दर 12 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया है और कहा जा रहा है की 2025 तक इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री 1.1 मिलियन से बढ़कर 11 मिलियन हो जाएगी और 2030 तक 30 मिलियन हो जाएगी, क्योंकि जैसे जैसे इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या बढती जा रही है वैसे वैसे इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन (EV Station) की मांग बढती जा रही है।

क्योकि अधिक इलेक्ट्रिक व्हीकल होने से लोगों के सामने इसको चार्ज करने की समस्या होगी  और आने वाले समय में बहुत ज्यादा इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन (EV Station) मिलेंगे आज कई कंपनी इसके ऊपर काम कर रही है आज के लेख में हम आपको बतायेंगे की इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन क्या है, इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन कैसे खोले, आदि के बारे में।

Also Read – Upcoming Electric Bike In India– भारत में आने वाली इलेक्ट्रिक बाइक 2022

Electric Vehicle Charging क्या है

car charge
Electric Car Charging

जिस प्रकार सीएनजी पेट्रोल और डीजल गाड़ियों के लिए जगह-जगह पर पेट्रोल पंप स्थापित किए गए हैं, उसी प्रकार इलेक्ट्रिक गाड़ियों को चार्ज करने के लिए भी इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन को स्थापित करने की योजना पर काम किया जा रहा है। ताकि जो लोग इलेक्ट्रिक गाड़ी खरीदे वह चार्जिंग कम होने पर या बैटरी डिस्चार्ज होने पर इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन से कुछ पैसे देकर अपनी गाड़ी को चार्ज कर सकें।

इंडिया में कई ऐसी इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने वाली कंपनियां उभर कर आ रही है, जो लोगों को अपनी फ्रेंचाइजी देती है और लोगों को उनके साथ पार्टनरशिप करके इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन का बिजनेस शुरू करने का मौका देती है। अगर आपके पास अच्छा फंड है तो आप खुद का इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन शुरू कर सकते हैं या आप किसी भी कंपनी की फ्रेंचाइजी भी ले सकते हैं।

EV Charging स्टेशन शुरू करने के लिए कितने ज़मीन की ज़रूरत है

इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको ज्यादा जगह की आवश्यक पड़ती है आपको गाड़ी पार्किंग के लिए, वेटिंग रूम बनवाना पड़ता है और काम करने के लिए सेटअप और आपको अपने ऑफिस के लिए भी जगह की जरूरत होती है।

गाड़ी चार्जिंग करने में कम से कम 2:30 घंटे का समय लगता है ऐसे में आप उनके लिए कुछ एंटरटेनिंग सिनेमा हॉल भी बनवा सकते है या लोगो के मनोरंजन के लिए आप कुछ और भी कर सकते हो।

इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको लगभग 1500sqt की जगह की जरूरत होती है।

Electric Car Charging Station में लागत

electric car
Electric Car Charging

Investment In Charging Station (EV):-  यदि हम इलेक्ट्रिक चार्जिंग (EV) स्टेशन के अन्दर इन्वेस्टमेंट की बात करते हैं, तो इसमें फ्रैंचाइज़ी इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस तरह का चार्जिंग स्टेशन खोलना चाहते हैं यानि खुद का चार्जिंग स्टेशन लगाना चाहते या किसी कंपनी की फ्रैंचाइज़ी लेकर Electric Car Charging Station (EV)  खोलना चाहते है और इसके अन्दर इन्वेस्टमेंट इस बात पर भी निर्भर करता है की आप स्टेशन के ऊपर कितनी चार्जिंग मशीन लगाकर स्टेशन शुरु करना चाहते है तो इसके अन्दर  इन्वेस्टमेंट का अनुमान Rs.5 लाख से Rs.10 लाख के बीच लगाया जा रहा है |

Electric Car Charging station business स्थापित करने के लाभ

ईवी पब्लिक चार्जिंग स्टेशन बिजनेस को स्थापित करने से  उद्यमी को कई तरह के लाभ होते प्राप्त होते  हैं। उदाहरण-

  • आज हमारा देश भारत इलेक्ट्रॉनिक वाहनों/उत्पादों के युग की ओर बढ़ रहा है। आने वाले वर्षों में, जैविक/खनिज ईंधन से चलने वाले वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों से बदलना आवश्यक हो जाएगा। यह इस बात से साबित हो रहा है कि भविष्य में पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशनों की मांग बहुत ही तेज होने वाली है, जो कि बड़े मुनाफे का संकेत दे रही है।
  • भारत में पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशन का कारोबार स्थापित करने के लिए केंद्र व राज्य सरकार विभिन्न योजनाएं और सब्सिडी की सेवा प्रदान कर रही हैं।
  • जहां एक ओर सार्वजनिक ईवी चार्जिंग स्टेशन का व्यवसाय दुनिया के पर्यावरण के लिए फायदेमंद है, वहीं यह महत्वाकांक्षी उद्यमी के लिए एक उच्च लाभ वाला व्यवसाय भी है।
  • पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशन का कारोबार हमारे देश भारत के लिए ही नहीं बल्कि दुनिया के लिए ‘Go Green‘ की पहल है। जिसे अपनाकर हम अपनी पृथ्वी को अतिरिक्त कार्बन उत्सर्जन से मुक्त कर सकते हैं।
  • आईबीएम (IBM) की एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया भर के आधे से अधिक (लगभग 57%) उपभोक्ता अपने पर्यावरणीय प्रभाव को सुधारने के लिए अपनी खरीदारी की आदतों को बदलने के इच्छुक हैं। इस तथ्य से भी स्पष्ट हो जाता है कि पब्लिक ईवी चार्जिंग स्टेशन स्थापित करना एक लाभदायक कारोबार होने वाला है।

FAQ

Q : इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन बिजनेस का क्या स्कोप है?

Ans : इसका फ्यूचर स्कोप बहुत अच्छा है क्योंकि इंडिया में धीरे-धीरे अब इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में इस बिजनेस से आपकी काफी अच्छी कमाई हो सकती है।

Q : क्या इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग बिजनेस घर से भी शुरू किया जा सकता है?

Ans : जी हाँ आप इसे घर पर भी चालू कर सकते हैं परंतु घर पर आप सिर्फ छोटी कार और दोपहिया वाहनों की ही चार्ज कर सकते हैं।

Q: इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन व्यवसाय शुरू करने में कितना खर्च आएगा?

Ans: अगर आप फ्रेंचाइजी लेते हैं तो आपको लगभग ₹5,00,000 से ₹9,00,000 तक खर्च करने पड़ सकते हैं। वहीं अगर आप अपना इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशन शुरू करते हैं तो यह लागत 30 लाख से 35 लाख तक जा सकती है।

Q: इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन के व्यवसाय से कितना लाभ होता है?

Ans: लाख में

Q : इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन का बिज़नेस कैसे शुरू करें ?

Ans इसके लिए आप किसी कंपनी की फ्रैंचाइज़ी ले सकते हैं, या आप चाहें तो खुद भी छोटे रूप में भी शुरू कर सकते है।

Also Read :- Electric Vehicles in Hindi

निष्कर्ष

आशा है आपको इस लेख “इलेक्ट्रिक वाहन पब्लिक चार्जिंग स्टेशन” से Electric Car Charging के कारोबार से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी जरूर मिली होगी, साथ ही यदि कुछ छूट गया हो या कुछ पूछना चाहते हैं,  तो कृपया कमेंट बॉक्स में लिखें।

अगर आपको लेख पसंद आया है, तो इसे अपने दोस्तों और जरूरतमंद लोगों के साथ share करना न भूलें। आपका एक शेयर किसी को उसके भविष्य की नई दिशा दिखा सकता है।- धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *