Embedded Computer in Hindi

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि आज के जमाने में बिना कंप्यूटर के कोई भी काम करना लगभग नामुमकिन है। हर क्षेत्र में कार्य करने के लिए हमें कंप्यूटर की शिक्षा होनी जरूरी है। ताकि हम किसी भी काम को ऑनलाइन आसानी से कर सकें। हर क्षेत्र में कार्य करने के लिए कंप्यूटर के अलग-अलग प्रकार का प्रयोग किया जाता है। आज हम embedded computer in hindi के बारे में जानने का प्रयास करेंगे।

image

हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे कि embedded computer क्या होता है और इसका इस्तेमाल किस रूप में और किस जगह पर किया जाता है। इसके साथ साथ हम आपको यह भी बताएंगे कि इस कंप्यूटर के क्या फायदे हैं और क्या नुकसान है। तो अगर आप embedded computer in hindi के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ते रहे। 

Embedded computer क्या होता है – (Embedded computer in Hindi)

embedded computer कंप्यूटर का एक ऐसा प्रकार है जो किसी खास कार्य के लिए किया जाता है। इस कंप्यूटर के बारे में हम ऐसे भी समझ सकते हैं कि हम इसे सिर्फ और सिर्फ एक ही कार्य के लिए रख सकते हैं। हम जिस कार्य को करने के लिए इस कंप्यूटर का उपयोग करेंगे। यह कंप्यूटर सिर्फ उसी कार्य को करेगा। उसके अलावा वहां पर क्या हो रहा है इसके बारे में यह कंप्यूटर आपको किसी भी तरह की सूचना नहीं देगा। लेकिन जिस काम के लिए इसे रखा गया है वह अपने काम को बहुत बढ़िया तरीके से करेगा और किसी तरह की भी गलती नहीं करेगा। 

उदाहरण के तौर पर हम आपको बड़े बड़े बैंकों में लगे अलार्म का उदाहरण दे सकते हैं। जिस तरह फायर अलार्म कभी और किसी चीज होने पर नहीं बजता है लेकिन जैसे ही वह धुआं देखता है और उसके सेंसर में धुआं जाता है वह तुरंत बजना शुरू हो जाता है। फायर अलार्म भी embedded computer से ही बना है। जिस तरह फायर अलार्म को और कुछ दिखाई नहीं देता सिर्फ उसे धुआं ही दिखाई देता है और वह धुआं के होने पर ही बजता है। बिल्कुल वैसे ही embedded computer से बना कोई भी चीज उसी काम को करता है जिस काम के लिए उसे बनाया गया है। बाकी किसी भी काम से उसका कोई मतलब नहीं रहता है। 

Embedded Computers के टाइप्स

किसी भी embedded computer में 3 कंपोनेंट्स होते हैं जो इसे कार्य करने में मदद करते हैं। 

  1. सबसे पहले इसमें हार्डवेयर होता है।
  2. उसके बाद इसमें एक सॉफ्टवेयर भी होता है। 
  3. इसका आखरी और सबसे महत्वपूर्ण कॉम्पोनेंट्स में आरटीओएस आता है। आर टी ओ एस का फुल फॉर्म real time operating system (RTOS) होता है। यह इसको किसी भी कार्य को समय पर करने का क्षमता प्रदान करता है। जो छोटे लेवल के embedded computer होते हैं उनमें यह नहीं होता है। लेकिन जो बड़े बड़े और महत्वपूर्ण जगह पर लगे हुए embedded computer होती है यह उनमें बहुत बढ़िया तरीके से लगाया हुआ रहता है। ताकि वह सही समय पर किसी भी चीज की जानकारी दे सके। 

Embedded computer की विशेषताएं 

1. Single-functioned

इस कंप्यूटर की सबसे पहली और सबसे मुख्य विशेषता यह है कि यह किसी एक खास चीज पर ही ध्यान रखता है। हमारे कहने का मतलब है कि यह सब काम नहीं करता है। यह कंप्यूटर वही काम करता है जिसके लिए इसको खास करके रखा गया है। 

2. Reactive और Real time

इस कंप्यूटर का दूसरा सबसे बड़ी विशेषता यह है कि हमेशा रियल टाइम पर रिएक्ट करता है। ऐसा नहीं है कि यह हमेशा यह रिएक्ट करता रहेगा। यह तभी रिएक्ट करता है जब इसको सच में लगता है कि हां अब रिजेक्ट करना चाहिए। इस कंप्यूटर को ऐसा डिजाइन दिया गया है कि यह हमेशा जरूरत के हिसाब से ही रिएक्ट करता है और यह जब यह रिएक्ट करता है वह सिचुएशन एकदम इसके लिए रिएक्ट करने के लायक होती है। हमारे कहने का मतलब है यह हमेशा सही समय पर ही रिएक्ट करता है। 

3. Connected

यह हमेशा इनपुट लेता है और जब इसको लगता है कि इस इनपुट के हिसाब से हमें आउटपुट देना चाहिए तभी आउटपुट देता है। इसलिए इसमें इनपुट और आउटपुट को कनेक्ट करने के लिए connected peripheral होना आवश्यक है।

हार्डवेयर-सॉफ्टवेर सिस्टम – इस तरह के कंप्यूटर में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों का इस्तेमाल किया जाता है। ताकि सॉफ्टवेयर से इसे ज्यादा फीचर मिले और हार्डवेयर से इसे ज्यादा सुरक्षा मिले। 

Embedded computer के फायदे | Benefits of Embedded Computers

  • इसे बहुत ही कम पावर में लगाया जा सकता है। 
  • इसको लगाने में खर्चा भी कम आता है। 
  • इसे आसानी से कभी भी कस्टमाइज किया जा सकता है। 
  • इस कंप्यूटर का परफॉर्मेंस हमेशा अच्छा रहता है। 
  • कैसे कंप्यूटर साइज में बहुत ही छोटे होते हैं आप इसे कहीं भी लगा सकते हैं। 
  • इस तरह के सारे कंप्यूटर बहुत फास्ट काम करते हैं और जरूरत के हिसाब से बहुत बढ़िया चलते हैं। 
  • इस तरह के कंप्यूटर से किसी भी प्रोडक्ट की क्वालिटी बढ़िया होती है। 

Embedded computer के नुकसान 

  • अगर एक बार इन्हें कॉन्फ़िगर कर दिया गया तो इसे दोबारा बदला नहीं जा सकता है और इसे यूजर द्वारा कभी भी अपग्रेड या चेंज नहीं किया जा सकता। 
  • यूजर्स के द्वारा इसे मेंटेन करना थोड़ा मुश्किल होता है और इस कंप्यूटर से फाइल्स का बैकअप लेना बहुत कठिन होता है। 
  • embedded computer के एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर को डाटा ट्रांसफर करने में बहुत ज्यादा कठिनाई होती है। 
  • इस कंप्यूटर को सिर्फ एक खास कार्य के लिए डिजाइन किया गया रहता है इसलिए इसका हार्डवेयर सीमित होता है।

Must Read – What is Electric Car Charging in Hindi

निष्कर्ष 

आज हमने आपको आपने इस आर्टिकल के माध्यम से embedded computer in hindi के बारे में बताया। इसके साथ-साथ हमने आपको यह भी बताया कि यह कंप्यूटर क्या होता है और इसकी क्या विशेषताएं हैं और इसके नुकसान और फायदे क्या है। 

उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और इसमें दी गई जानकारी आपको समझ में आ गई होगी। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ साथ अपने सोशल मीडिया पर भी शेयर करें। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *