UPSC Full Form in Hindi

UPSC क्या है।

UPSC Full Form in Hindi, UPSC क्या है और इसका काम क्या है इसके बारे में बताने से पहले हम आपको इसके पूरे नाम के बारे में बता रहे हैं ताकि आप जान सकें कि UPSC को हिंदी और अंग्रेजी में क्या कहते हैं।

UPSC को हिंदी भाषा में संघ लोक सेवा आयोग और अंग्रेजी में UNION PUBLIC SERVICE COMMISSION कहा जाता है, यह आयोग केंद्रीय स्तर की विज्ञप्ति जारी करता है और कई सरकारी कार्यालयों में कर्मचारियों की भर्ती करता है, हाल ही में IAS IPS जैसी भर्ती भी इसी आयोग द्वारा की जाती है।

UPSC अखिल भारतीय सेवाओं, केंद्रीय सेवाओं और संवर्गों के साथ-साथ भारतीय संघ के सशस्त्र बलों के लिए भर्ती प्रक्रिया आयोजित करता है। UPSC एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जो भारत के केंद्र और राज्य सरकार के तहत 24 सेवाओं में भर्ती के लिए जिम्मेदार है। UPSC परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है।

UPSC Full Form in Hindi
UPSC Full Form in Hindi

Also Read : MPIN क्या है? What does the full form of MPIN?

Also Read : ITI Full FORM

UPSC की स्थापना कब हुई थी?

UPSC की स्थापना 01 अक्टूबर 1926 ई. को हुई थी। और तब से यह एक स्वतंत्र संगठन के रूप में लोक सेवा आयोग के लिए भर्ती और अन्य कार्य कर रहा है।

UPSC का मुख्यालय नई दिल्ली में है।

UPSC के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए ? (UPSC ke liye Qualification)

  1. आपका ग्रेजुएशन कम्पलीट पूरा होना चाहिए और अगर आप अपने ग्रेजुएशन के फाइनल ईयर में आवेदन कर सकते हैं लेकिन निर्धारित तिथि के अंदर-अंदर आपका फाइनल मार्कशीट आपके हांथ में होना चाहिए।
  2. आपको भारत का नागरिक होना जरूरी है।
  3. आपकी न्यूनतम आयु 21 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए और अधिकतम आयु सीमा 32 वर्ष है यदि आप ओबीसी हैं तो आपको 3 वर्ष की छूट मिलेगी और यदि आप एससी या एसटी हैं तो आपको 5 वर्ष की छूट मिलेगी।

अब बात आती है की अगर हम UPSC Exam के लिए योग्य है तो एक मुख्य प्रश्न है कि हम ज्यादा से ज्यादा कितनी बार UPSC की परीक्षा में बैठ सकते हैं यह भी आपके लिए जानना बहुत जरूरी है तो आइए जानते हैं।

UPSC में प्रयासों की संख्या (Number of Attempts in UPSC)

जनरल कैटेगरी के उम्मीदवार इस परीक्षा में अधिकतम 6 बार भाग ले सकते हैं। एससी/एसटी/ओबीसी और अन्य आरक्षणों के लिए प्रयासों की संख्या 6 से अधिक होती है।

UPSC के मुख्य कार्य क्या हैं?

संविधान के अनुच्छेद 320 के अनुसार, अन्य बातों के साथ-साथ, सिविल सेवा और उसके पदों पर भर्ती से संबंधित उत्तरदायित्व आयोग के पास निहित हैं। इस लेख में हमने आयोग के कार्यों और जिम्मेदारियों का वर्णन किया है।

  • संघ की सेवाओं में नियुक्ति के लिए संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा परीक्षा आयोजित करना।
  • योग्य एवं प्रतिभावान अभ्यर्थियों की सीधी भर्ती निष्पक्ष इंटरव्यू करवाकर।
  • UPSC द्वारा पदोन्नति/प्रतिनियुक्ति/समामेलन द्वारा अधिकारियों की नियुक्ति करना।
  • UPSC द्वारा भारत सरकार के तहत विभिन्न सेवाओं के लिए और मुख्य अन्य पदों के लिए भर्ती नियमों को सभी तरह से तैयार और संशोधित करना।
  • अन्य सिविल सेवाओं से संबंधित अनुशासनिक मामले।
  • भारत के राष्ट्रपति (President) द्वारा आयोग को भेजे गए किसी भी मामले पर सरकार को सलाह देना।

UPSC की तैयारी कैसे करें? (UPSC ki taiyari kaise karen)

अब हम जानेंगे कि UPSC की तैयारी कैसे करें। UPSC की परीक्षा की तैयारी के लिए आपको तीन चरणों से गुजरना होगा जो कि Prelims, Mains, और personality tests हैं:-

प्रिलिमनरी (Preliminary)

UPSC की पहली परीक्षा प्रारंभिक है, जिसमें 200 अंकों के 2 ऑब्जेक्टिव प्रकार के प्रश्नपत्र होते हैं।

पेपर I

पेपर 1 के तहत, उम्मीदवार को वर्तमान घटनाओं के साथ-साथ भारत का इतिहास, भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन, भारत और दुनिया का भूगोल, भारतीय राजनीतिक प्रणाली, भारतीय पंचायत राज प्रणाली, भारतीय अर्थशास्त्र, विश्व आर्थिक, भारतीय सामाजिक आंदोलन, पर्यावरण आदि विषयों के ज्ञान का टेस्ट किया जाता है।

पेपर II

पेपर 2 में उम्मीदवार के समझ कौशल के साथ-साथ कम्युनिकेशन, लॉजिकल रीजनिंग, एनालिटिकल एबिलिटी, डिसीजन मेकिंग, बेसिक न्यूमैरेसी, प्रॉब्लम सॉल्विंग, इंग्लिश लैंग्वेज की समझ कौशल और मानसिक क्षमता का टेस्ट होता है।

UPSC Mains Exam

UPSC परीक्षा का दूसरा चरण मेंस है, और प्रीलिम्स की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्रों को मेंस परीक्षा लिखने का मौका मिलता है, जिसमें 1 सब्जेक्टिव पेपर होता है।

UPSC Personal Interview

मेंस परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्रों को पर्सनल इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, Mains और पर्सनल इंटरव्यू के अंकों के आधार पर अंतिम मेरिट सूची तैयार की जाती है।

तीनों चरणों की परीक्षा के बाद जब फाइनल मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है तो यह तय करती है कि सिविल सर्विस के तहत छात्र को कौन सा पद मिलेगा।

Also Read : MCD Full Form In Hindi

SBI Full Form In Hindi

UPSC से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Q1. क्या UPSC और IAS एक ही हैं?

नहीं,

UPSC एक अधिकृत केंद्रीय एजेंसी है, जो विभिन्न प्रकार के सिविल सेवा पदों जैसे IAS, IPS, IRS आदि के लिए परीक्षा आयोजित करती है।

जबकि IAS मतलब भारतीय प्रशासनिक सेवा पब्लिक सर्विस कमीशन का एक पद है, जिसे पब्लिक सर्विस कमीशन के सभी पदों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है।

Q2. क्या UPSC की परीक्षा कठिन है?

UPSC की परीक्षा न केवल भारत में बल्कि दुनिया में सबसे प्रतिष्ठित और कठिन परीक्षाओं में से एक है।

इस परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है, और अक्सर यह देखा जाता है कि जो छात्र इस परीक्षा की तैयारी करते हैं, वे इस परीक्षा की तैयारी में हर दिन 15 घंटे से अधिक समय लगाते हैं।

Q3. क्या 12वीं पास UPSC के लिए अप्लाई कर सकते हैं?

12वीं कक्षा की योग्यता के साथ IAS अधिकारी बनना संभव नहीं है, IAS अधिकारी बनने के लिए आपके पास किसी मान्यता प्राप्त University या Institute से Graduate की डिग्री होनी चाहिए।

निष्कर्ष

आज के हिंदी लेख में UPSC Full Form in Hindi क्या है? UPSC क्या है? UPSC क्या कार्य करती है? और UPSC परीक्षा की तैयारी कैसे करे? के बारे में विस्तार से जानेगे!

आशा है आपको यह ब्लॉग (UPSC Kya Hai in Hindi) पसंद आया होगा! इस पोस्ट से जुड़े किसी भी सवाल और सुझाव के लिए नीचे कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं! 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *